HomeNews

वित्तीय वर्ष जनवरी माह से शुरू करने का प्रस्ताव / Proposal for commencement of Financial Year from January

वित्तीय वर्ष जनवरी माह से शुरू करने का प्रस्ताव / Proposal for commencement of Financial Year from January भारत सरकार वित्त मंत्रालय आर

Lokpal (Finance and Account) Rules, 2020
Procurement of Automobiles through Government e-Marketplace (GeM): Amendment in Rule 149 GFR 2017
Procurement of Goods/Services through Government e-Marketplace (GeM) and outside GeM: FinMin Order
वित्तीय वर्ष जनवरी माह से शुरू करने का प्रस्ताव / Proposal for commencement of Financial Year from January
भारत सरकार
वित्त मंत्रालय
आर्थिक कार्य विभाग

लोक सभा
तारांकित प्रश्न संख्या 96*
(जिसका उत्तर शुक्रवार, 21 जुलाई, 2017/30 आषाढ़, 1939 (शक)को दिया जाना है)
वित्त वर्ष में परिवर्तन
*96. श्री पंकज चौधरी:
क्या वित्त मंत्री यह बताने की कृपा करेंगे कि:
(क) क्या सरकार वित्त वर्ष जनवरी माह से शुरू करके इसे कैलेंडर वर्ष के
साथ—साथ करना चाहती है;
(ख)यदि हां, तो तत्संबंधी ब्यौरा क्या है; और
(ग) क्या सरकार इस संबंध में नवम्बर—दिसम्बर के दौरान बजट प्रस्तुत करने का
प्रस्ताव है और यदि हां, तो तत्सम्बंधी ब्यौरा क्या है?
उत्तर

वित्त मंत्री (श्री अरूण जेटली)
(क) एवं (ख): वित्त वर्ष बदलने का मामला सरकार के विचाराधीन है। सरकार द्वारा
गठित डॉ. शंकार आचार्य की अध्यक्षता वाली समिति ने हाल ही में इस मामले पर
विचार किया है। समिति की रिपोर्ट प्राप्त हो गई है।
(ग) इस चरण पर यह प्रश्न नहीं उठता।
*****
GOVERNMENT OF INDIA
MINISTRY OF FINANCE
LOK SABHA
 
STARED QUESTION NO: 96
*

ANSWERED ON FRIDAY, 21ST JULY, 2017
[Aashadha 30, 1939 (SAKA)]
 
CHANGE OF FINANCIAL YEAR
 
QUESTION
96. SHRI PANKAJ CHAUDHARY: 
Will the Minister of Finance be pleased to state:
 
(a) Whether the Government proposes to synchronise the financial year
with the calender year by commencing it from the month of January; 
(b) if so, the details thereof; and
 
(c) whether the Government also proposes to present the budget during
November-December in this regard and if so, the details thereof? 
 
ANSWER
 
MINISTER OF FIANANCE
(SHRI ARUN JAITELY)
(a)&(b) The matter of changing Financial Year is under consideration of
the Government. It has been examined recently by a Committee constituted by
the Government under the chairmanship of Dr. Shankar Acharya. The report of
the Committee has been received. 
(c) It does not arise at this stage. 

COMMENTS

WORDPRESS: 0